Doctors का कोट सफ़ेद क्यों होता है- जानिए हिंदी में

1
163
Doctors का कोट
Doctors का कोट

दोस्तों आज आपको बताते हैं कि Doctors का कोट सफ़ेद क्यों होता है- जानिए हिंदी में. हम सभी साल में एक आध बार तो डॉक्टर के पास जाते ही हैं. और वहां पर खूब सारे डॉक्टर्स और नर्स को देखते हैं. हमें वो सब सफ़ेद कोट में ही दिखाई देते हैं. कभी सोचा है  क्यों Doctors का कोट सफ़ेद होता है.

यों तो इस दुनियां में ढेर सारे रंग हैं. इन्हीं में से एक सफ़ेद रंग को डॉक्टर्स के कोट के लिए चुना गया है. लेकिन इसकी वजह क्या है. आपके मन में भी कभी ना कभी तो आया ही होगा. हम सब ने डॉक्टर्स को हमेशा सफ़ेद रंग के कोट में ही देखा है. हम सब के दिमाग में डॉक्टर्स की छवि एक सफ़ेद कोट पहने व्यक्ति की ही बनी हुई है.

क्योंकि हमने शुरू से फिल्मों में भी डॉक्टर को सफ़ेद रंग के कोट में ही देखा है. जैसे हम फिल्मों में बकील को काले कोट में देखते आये हैं. और उसकी छवि हमारे मन में वही बस गई है. इसी तरह डॉक्टर्स की भी बस गई है. हम सभी खेल खेल में जब भी बचपन में डॉक्टर बने हैं तो कुछ ना कुछ सफ़ेद कपडा ही पहन के.

तो चलिए अब जानते हैं डॉक्टर्स के कोट के बारे में और जानकारी. और आपको ये भी बताते हैं कि डॉक्टर सफ़ेद कोट क्यों पहनते हैं.

ये भी पढ़ें- इन्टरनेट क्या है और यह कैसे काम करता हैं, कब शुरू हुआ था इन्टरनेट

Doctors का कोट पहले कैसा होता था

साथियों ये तो हम सभी जानते हैं कि. हर चीज परफेक्ट होने से पहले अलग-अलग प्रयोगों से गुजरती है. धीरे-धीरे ही चीजें अपने फाइनल स्वरुप तक पहुंचती हैं. आधुनिक समय में हम जितनी चीजों को अपने आस-पास देखते हैं. वो एक दम से ऐसी नहीं हुई होती हैं. बहुत समय बाद वो ऐसी हैं जैसा हम उन्हें देख रहे हैं.

ठीक उसी तरह doctors के कोट का रंग भी पहले सफ़ेद नहीं हुआ करता था. आप लोग आश्चर्य करेंगे कि पहले डॉक्टर भी काले कलर का कोट पहना करते थे. लेकिन जैसे-जैसे बीसवी सदी आई इसका रंग सफ़ेद हो गया.

डॉक्टर जार्ज आर्मस्ट्रांग जो कनाडा के मोंट्रियल जनरल अस्पताल में सर्जन थे. और इसके साथ वहां के मेडिकल एसोसिएशन अध्यक्ष भी. दरअसल उन्हें काला कलर बिलकुल भी अच्छा नहीं लगा था. उन्होंने ही डॉक्टर्स को सफ़ेद कलर का कोट पहनने का सुझाव दिया था.

इस रंग को चुनने की सबसे खास वजह थी. जैसा कि आप सभी जानते हैं सफ़ेद रंग दया और करुणा का रंग है. और इसे शुद्धता और स्वच्छता का प्रतीक माना जाता है. जो डॉक्टरों के सेवा भाव को बताता है. हमारे समाज में डॉक्टर ही भगवान् का दूसरा स्वरुप माने जाते हैं.

डॉक्टर ही हैं जो लोगों की जान बचाने के लिए जी जान से मेहनत करते हैं. और हम सभी हर स्वास्थ्य विपत्ति में उन पर भगवान् से भी ज्यादा भरोसा करते हैं

ये भी पढ़ें- कमाल की ट्रिक जिससे WhatsApp message का blue tick नहीं दिखेगा

Doctors का कोट
Doctors का कोट

Doctor सफ़ेद रंग का कोट क्यों पहनते हैं

डॉक्टर जार्ज आर्मस्ट्रांग का सुझाव यों ही नहीं था. आज डॉक्टरों द्वारा पहना जाने वाला कोट जिसे एप्रन भी कहते हैं. यह सफ़ेद या फिर किसी हल्के रंग के सूती, लिनन और पॉलिएस्टर कपड़े से बना होता है. इसकी खासियत होती हैं कि यह खौलते हुए पानी में धोने पर भी खराब नहीं होता.

डॉक्टरों के कपड़ों को अक्सर गर्म पानी में धोने की जरुरत पड़ती ही रहती है. ये इसलिए कि इन पर चिपके बैक्टीरिया और वायरस नष्ट हो जायं. डॉक्टर का पेशा बहुत ही साफ़ सफ़ाई वाला होता है. और डॉक्टर का कोट सफ़ेद रंग का होने के कारण आसानी से पता चल जाता है कि कोट साफ है या नहीं.

डॉक्टर के सफ़ेद कोट की कई और भी खासियत होती हैं. जैसे कि सफ़ेद रंग का कोट शरीर के तापमान को एक सामान रखने में मदद करता है. अधिकतर मेडिकल कॉलेज में एक समारोह मनाया जाता है जिसे ‘सफ़ेद कोट’ समारोह कहते हैं.

डेनमार्क और इंग्लैंड के डॉक्टर सफ़ेद रंग के कोट का कम इस्तेमाल करते हैं. और इतना ही नहीं ऑपरेशन थिएटर में भी डॉक्टर सफ़ेद कोट की जगह हरे रंग के कपड़े पहनते हैं. ऐसा मानते हैं हरा रंग तनाव भरे माहौल में आखों और दिमाग को आराम देता है.

ये भी पढ़ें- आप एक साथ gmail के मेल नहीं कर पा डिलीट तो बस इतना करें फिर हो जायेंगे

Conclusion

तो दोस्तों आपको आज की हमारी ये पोस्ट Doctors का कोट सफ़ेद क्यों होता है- जानिए हिंदी में कैसी लगी. दोस्तों हमारी कोशिश थी कि आपको Doctor सफ़ेद कोट क्यों पहनते हैं की पूरी जानकारी hindi me दी जाये. आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी या आपका कोई सुझाव हो तो प्लीज कमेंट बॉक्स में कमेंट करके शेयर जरुर करें.

मित्रो अगर आपको लगता है ये पोस्ट आपके और मिलने वालों, दोस्तों तक भी पहुंचे तो प्लीज इस पोस्ट को नीचे दिए सोशल मीडिया लिंक जैसे Facebook, WhatsApp पर क्लिक करके शेयर जरुर करें.

…..धन्यवाद

…..शेयर जरुर करें पुण्य मिलेगा

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here