मन की शांति कैसे पाएँ-(How to Get Piece of Mind)

0
361
मन की शांति
Piece of Mind
मन की शांति क्या है? (MAN KI SHANTI KYA HAI?) 
जी हा दोस्तों मेरा आज का टॉपिक है WHAT IS PIECE OF MIND. तथा मन की शांति कैसे पाएँ. अब अगर जवाब सोचे तो हो सकता है की किसी के लिए इसका जवाब यह हो कि एकांत में बैठकर ध्यान करने से मन की शांति मिलती है. और किसी का जवाब इसके अपोजिट जैसे कि शराब का सेवन करने से मन की शांति मिलती है.
 किन्तु यह तो सभी जानते है की मन की शांति होना सबसे जरूरी है. कहते हैं न मन शांत तो सब ठीक. अपने देखा भी होगा की कई बार हम कुछ ऐसे लोगो से मिलते है जिनके पास सब-कुछ होने के बावजूद बस एक ही चीज़ की कमी होती है. और वो है मन की शांति और इसी वजह से वो हमेशा दुखी और निराश रहते है.

    दोस्तों आंतरिक तौर पर शांति हमारे जीवन को सुकून और सच्ची ख़ुशी से भर देती है.  एक ऐसी शांति जहाँ कोई आपको परेशान न कर सके. कोई आपको क्रोधित न कर सके, कोई आपको आपके लक्ष्य व उदेश्य से न भटका सके. तनाव, चिंता आपसे कोसों दूर हो और आप अंदर से खिलखिला रहें हों, तो आप वास्तव में आंतरिक शांति का आनन्द ले रहे हैं.
जब हम कहते हैं मैं शांत हु, या कहते  हैं मैं स्ट्रेस में हु, तो जो हम कहते हैं, वही बनते जाते हैं. किन्तु मन की शांति पाना क्या आसान है? जी हा दोस्तों यह कोई कठिन कार्य नहीं है बस आपको अपने ऊपर थोड़ा कंट्रोल करने की आवश्यकता है. और सबसे पहले आपको वो वजह खोजनी है जिसकी वजह से आपके मन की शांति कही खो गयी है. यह वजह हर इंसान के लिए अलग अलग हो सकती है.

मन की शांति भंग होने के कारण

सोचो कौन सी चीजें/बातें आपके मन की शांति को भंग करती हैं,

1. जब आप खुद से नकारात्मक बातें करते हैं,
2. जब आप भविष्य के बारे में डरते रहते हैं,

3. जैसा आप चाहते हैं जब वैसा नहीं होता,

4. कोई आपसे एक बुरी बात कहता है और चला जाता है लेकिन फिर आप उसी के बारे में सोच सोचकर खुद से दिन भर कितनी बुरी बातें कहते हैं,

5. जब आप चाहते हैं की दूसरे लोग आपके अनुसार व्यवहार करे या खुद को आपके according बदल दें, लेकिन जब ऐसा नहीं होता तो आप परेशान हो जाते हैं,
6. जब आप बीते हुए समय को याद करके दुखी होते रहते हैं,

7. जब आप भविष्य के बारे में डरते रहते हैं,

8. जब आप सोचते हैं की दूसरा आपके बारे में क्या सोच रहा होगा,
9. जब आप खुद की तुलना दूसरों से करते हैं, 
10. एक ही बात पर टिके रहना

11. सोशल मीडिया का इस्तेमाल ज्यादा करना

 यह सब कारन आपकी मन की शांति को भंग कर सकते है इसके अलावा भी कई और कारण हो सकते मन की शांति को भंग करने के लिए. किन्तु सच तो यह है की इनमे से कोई भी कारन आपकी मर्जी के बिना आपको दुखी नहीं कर सकता. क्योंकि जैसा हम सोचते है वैसे ही बन जाते है और सही मायने में हम ही अपने दुखों का कारण बनते है.

आमतौर पर दुनिया में, जब लोग मन की शांति के बारे में बात करते हैं, तो यह केवल किसी तरह अपने अहंकार को सहज बनाने के बारे में है.

Close up of a young family packing up for a road trip

मन की शांति के उपाय

इस संसार में मन की शांति को बनाये रखने के बहुत सारे उपाय और कई सारी चीज़े मौजूद है. बस जरुरत है तो उनको तलाश करके  उनका अनुसरण करने की और उसे अपनी ज़िन्दगी में अपनाने की. इस कंडीशन में मन शांत और स्थिर रहता है. और हम आंतरिक ख़ुशी का अनुभव करते है हमारे अंदर से डर, तनाव चिंता खत्म हो जाता है. इसलिए चलिए जानते है मन की शांति को बनाये रखने के कुछ साधारण और सटीक उपाय:

स्वस्थ रहने का हर उपाय करें।

जी हा दोस्तों जैसा की आप जानते है की फिट एंड हैल्दी बॉडी हर इंसान के लिए जरुरी है. अपने सुना भी होगा की निरोगी काया ही सबसे बड़ा धन है. इसलिए अपने आपको को फिट रखने की हर संभव प्रयास कीजिये. अगर आप फिट रहेंगे तो कई सारे चैलेंज एक्सेप्ट कर सकते है. इनमे वो भी है जिनकी वजह से कभी आपको निराशा का अनुभव हुआ हो शायद.

परिस्थितियों को स्वीकार करना सीखें –

कई बार ऐसा होता है कि जो हम चाहते है वो हमें नहीं मिलता. और उस परिस्तिथि में हम निराश हो जाते है और हम अपने मन की शांति खो देते है. इसी परिस्तिथि  में हम अक्सर सोचने लगते है की मेरे साथ ही ऐसा क्यों हुआ मेरी तो किस्मत ही ख़राब है. में इसी लायक हूँ वगैरह.
इसके विपरीत जब हम यह सोचे कि जो हुआ अच्छा ही हुआ अभी नहीं तो अगली बार हम इस चीज़ को हासिल कर ही लेंगे. मैं हर परिस्थिति में खुद को ढाल लूँगा, और मैं हर समस्या का समाधान करने में सक्षम हूँ. तो हम अपने मन की शांति को बनाये रख सकते है. फिर कोई भी परिस्थिति हो आपको आंतरिक तौर पर शांत और खुश रहने से रोक नहीं सकती. क्योंकि हम जैसा सोचते है वैसा ही हम बन जाते है. इसलिए इससे बचने के लिए सबसे जरुरी है की हम अपनी वर्तमान परिस्तिथियों को स्वीकार करे ओर उनके साथ अपनी ज़िन्दगी जिए.

ध्यान (मैडिटेशन) करे

ध्यान करने से होता है मन शांत जी हा दोस्तों ध्यान यानि मैडिटेशन सबसे कारगर उपायों में से एक है. ध्यान करने से हमारा मन कई बातों में नहीं उलझता ध्यान एक ऐसी मुद्रा है जो आपको स्थिर रहना सिखाती है. ध्यान एक ऐसी मुद्रा है जो आपके दिमाग को संतुलित बनाये रखने में मदद करती है और आपके मन को शांत बनाए रखती है.

अगर आप अपने मन को शांत रखना चाहते हैं तो प्रतिदिन कम से कम 15 से 30 मिनट तक शांत वातावरण में बैठकर एकाग्र होकर मेडिटेशन करें. वास्तव में मेडिटेशन एक आध्यात्मिक अभ्यास है और सदियों से लोग इसका अभ्यास करते आ रहे हैं.

मन को शांत रखने के लिए अपनी तुलना किसी से न करें – 

दोस्तों हम सबमें से अधिकतर लोग अपनी तुलना दूसरों से करते है. लेकिन क्या आप जानते है मन की शांति को भंग करने का एक कारण यह भी है. जी हा जब हम अपनी तुलना दूसरों से करते है तो हम अक्सर यह सोच कर दुखी हो जाते है की दूसरों के पास पैसा है नौकरी है लेकिन हमारे पास कुछ नही है. और इस तरह अपने आप को ही तकलीफ देते है. ऐसा सोचकर हम अपने मन की शांति को अपने ज़िंदगी की ख़ुशी को कही खो देते है.
 इसके विपरीत यदि हम यह सोचे कि सबके पास कुछ न कुछ खूबी अवश्य होती है. और हम सब में भी कुछ न कुछ खूबी जरूर होगी. और हम उसका उपयोग करके बहुत कुछ हासिल कर सकते है. हम ऐसा भी सोच कर अपने मन को शान्त बना सकते है की जो हमारे पास है वो बहुत सारे लोगो के पास नहीं होगा.
   दूसरों से खुद की तुलना करना छोड़ दें आप unique हैं. आपके जैसा कोई दूसरा नहीं और यही आपकी सबसे बड़ी ताकत है. आपको दूसरों जैसा बनने की जरूरत नहीं, आप बिलकुल परफेक्ट हो, ईश्वर की समस्त शक्तियाँ आपमें मौजूद हैं. जो आपको अपना भाग्य हासिल करने के लिए काफी हैं.
 इसलिए आप सिर्फ अपने को बेहतर बनाने पर ध्यान दें ना कि दूसरों से अपनी तुलना करने पर अपनी एनर्जी खर्च करें. इसलिए आप अपने को सर्वश्रेष्ठ मानें, दूसरों से तुलना न करें और मन की शांति को भंग न होने दें।

मन की शांति के लिए गहरी सांस लें –

जब हम अपने श्वास पर ध्यान केंद्रित करते हैं तब हमारे दिमाग में अच्छे रसायन स्रावित होते हैं. जो मन को शांत रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मन की शांति के लिए नियमित रूप से पांच बार गहरी सांस लेना और कुछ देर बाद सांस को छोड़ना चाहिए. गहरी सांस लेते समय फेफड़े और डायफ्राम पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए. इससे मन और मस्तिष्क को तुरंत शांति, राहत और एक अलग तरीके का सूकून मिलता है।

स्वयं को खुश रखने की जिम्मेदारी खुद ले

अथार्त

दूसरों को खुद को परेशान करने की अनुमति दें

जैसा की हमने पहले भी बताया कि मन की शांति को भंग करने के कई कारण है. लेकिन दोस्तों कोई भी वजह इतनी बड़ी नहीं है की वो आपको आपकी मर्जी के बिना परेशान करे. हा जब तक आप न चाहें आपके मन की शांति भंग नहीं हो सकती है जब हम खुद को खुश रखने की जिम्मेदारी स्वयं ले तो फिर हमे कोई अनय दुखी नहीं कर सकता. कई बार ऐसा होता है की हमारे काम को आलोचना का सामना करना पड़ता है. जब कोई हमें कुछ बुरा बोलता है तो हम दो तरह से प्रतिक्रिया कर सकते हैं.
पहला- उसकी कही बात को हम अपने अंदर जाने दें, उस बात से दुखी होते रहें, और सोचते रहें की मुझमे ही कोई कमी है, तो यकीनन आपके मन की शांति भंग हो जाएगी,
दूसरा - खुद से कहें, किसी के कुछ कहने से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, किसी में इतनी ताकत नहीं है की वह मुझे परेशान कर सके. मेरी आंतरिक शांति को भंग कर सके, मैं आंतरिक तौर पर सक्षम हूँ, शक्तिशाली हूँ और शांत हूँ,

जब हम दूसरों की बातों की इग्नोर करते है तो अपने मन को शांत रखते है और खुद को खुश रखने की चाबी अपने पास रखते है

एक ही बात पर न टिके रहे

कई बार ऐसा होता है की हम एक ही बात को लेकर बैठ जाते है. और अपने मन को दुखी करते रहते है इससे हमारे दिमाग पर बुरा असर होता है. और हम नकारात्मक बातें सोचने लगते है जिसकी वजह से हमारा मन शांत नहीं रह पाता. कई बार किसी के द्वारा कही हुई कुछ बाते हमे बहुत परेशान कर देती है.

याद रखिये दोस्तों कभी भी किसी एक गलती के कारण किसी के व्यक्तित्व का पता नहीं चलता इसलिए बुरी बातों को छोड़कर आगे बढ़ना सीखें.

 पुरानी बातो से दूर रहे: 

गुजरी बातों पर जितना मर्जी अफसोस जताने से भी कोई फर्क नहीं पड़ता है. इसी तरह से आने वाले भविष्य को लेकर चाहे जितना एक्साइटमेंट होगा तो भी फर्क नहीं पड़ेगा. लेकिन जो हमारे पास आज है अगर उसको खुल कर जी लिया तो यकीन मानिए बहुत फर्क पड़ेगा. उसके लिए भगवान को

शुक्रिया कहने से बहुत फर्क पड़ेगा. इसलिए जी भर कर जिए और जो अच्छा लगे वो खोजिये बिना कल की फिकर किये.

मन को शांत रखने के लिए व्यायाम अतार्थ सुबह टहलने की आदत डाले

टहलने से न सिर्फ हमारे मन से बुरे विचार बाहर निकलते हैं बल्कि शरीर में रक्त का प्रवाह भी बेहतर तरीके से होता है. विशेषज्ञों का मानना है कि जब शरीर को ताजी हवा मिलती है तो हमारा मन शांत रहता है. और मन में नकारात्मक बातें नहीं आती हैं. और सुबह की समय उगते सूरज की किरणे हमे नयी ऊर्जा से भर देती है जो हमे दिन भर ताजगी देती है. हमारे दिमाग को स्थिर बनाए रखती है इसलिए सुबह का समय टहलने के लिए सर्वोत्तम माना जाता है.
वही अगर आप व्यायाम करते है तो न सिर्फ इससे आप फिट रहोगे बल्कि व्यायाम से हमारा आत्मविश्वास भी बढ़ता है. जो हमे अच्छे काम करने के लिए प्रेरित और हमारे मन को शांत रखने में मदद भी करता है.

प्रकृति की चीजों का आनंद ले

चिड़ियों का चहचहाना, हवा बहना, नदियों का कलकल बहता पानी, रंगबिरंगे फूलों को देखना और प्रकृति की सभी चीजों से मन को अलग तरह की शांति मिलती है. माना जाता है कि प्रकृति से जुड़े रहने और प्रकृति के करीब रहने से भी मन शांत रहता है. यही कारण है कि मन की शांति के लिए ज्यादातर लोग शहर के शोरगुल से दूर नदियों और समुद्र के किनारे एकांत में बैठना पसंद करते हैं.

प्रकति से जुडी चीज़े हमें खुश रखने में मदद करती है हमारे मन को शांत रखती है. इसलिए मन को शांत रखने के लिए प्रकृति से प्रेम करना बेहद जरूरी है.

खुद से नकारात्मक बातें कहने से बचें- 

अपनी सोच को सकारात्मक रखे नकारात्मक सोच हमारे सोचने की शक्ति को खत्म कर देती है. क्योंकि जैसा हम सोचते है वैसे ही बनते चले जाते है. खुद के बारे में की गई कोई भी बात आपके विश्वास पर असर डालती है. 

और आपका मन उन्ही बातों पर विश्वास करने लग जाता है जो आप खुद के बारे में कहते हैं. और अगर आप वैसे नहीं भी हैं तो भी आप धीरे-धीरे वही बनने लग जाते हैं. इसीलिए अपने बारे में अच्छा सोचे अछि बातें करे जैसे में खुश हूँ, में यह कर सकती हूँ,  मैं निडर हूँ, में ठीक हूँ, में फिट हूँ.

अच्छे कामों में खुद को व्यस्त रखें –

दोस्तों मन की शांति को बनाये रखने के लिए सबसे कारगर उपाय यही है. जितना हो सके अपने आप को BUSY रखे ऐसा करने से आपके पास नेगेटिव विचारों के लिए टाइम ही नहीं होगा तो आप बेवजह की बातें नहीं सोचेंगे.

अपने बचे हुए समय को किसी क्रिएटिव काम में लगाए अपनी कोई हॉबी जो किसी वजह से पूरी नहीं हो सकी उसे पूरा करने का प्रयास करे. अपने महत्वपूर्ण समय को आप कोई नई भाषा सीखने, Personality development, motivational और ज्ञानवर्धक books पढने, किसी महान personality के बारे में पढने या उनकी स्पीच सुनने, कोई छोटा business करने, नई- नई चीजें सीखने आदि… में लगा सकते हैं. आप अपने पसंद के गाने पर डांस कर सकते है, गाना गा सकते है,कोई म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट सिख सकते है. इससे आप अनावश्यक रूप से परेशान होने से बचे रहेंगे. आपके अंदर की शांति कायम रहेगी और साथ ही आप नई चीजें भी सीखते जायेंगे नयी जानकारी भी हासिल करते जायेंगे.

नित्य अपने ईश्वर से अच्छे विचार और कर्म के लिए प्रेरित करने हेतु प्रार्थना करें।

दोस्तों प्राथना में बहुत शक्ति होती है. आपने अक्सर महसूस किया होगा की जब हम मंदिर जाते है या किसी धार्मिक स्थान पर जाते है. तो वहाँ हमें अलग ही तरह की शांति का अनुभव होता है. इसलिए दोस्तों हमे ईश्वर का शुक्रिया करना चाहिए सच्चे मन से उनसे प्रार्थना करनी चाहिए. उन्हें अच्छे विचार देने के लिए धन्यवाद देना चाहिए

मन की शांति कैसे पाएँ जानकारी –

मित्रो हमने पूरी कोशिश की है, कि मन की शांति कैसे पाएँ इसकी पूरी और सही जानकारी आपको मिले. हमारी पोस्ट आपको पसंद आई हो या आपका कोई प्रश्न या सुझाव हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं. और हमारी पोस्ट को Social media साइट जैसे Facebook, Whatsapp, के नीचे दिये लिंक पर क्लिक करके जरूर शेयर करें.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here